अल-अक्सा को लेकर एर्दोआन ने मलेशियाई सम्राट और कतर अमीर के साथ की बातचीत

तुर्की के राष्ट्रपति ने मंगलवार को अल-अक्सा मस्जिद और फिलिस्तीनियों पर इजरायल के हमलों पर चर्चा करने के लिए मलेशिया के सम्राट और कतर के अमीर से बातचीत की। इससे पहले वह जॉर्डन किंग और कुवैत अमीर से भी इस मुद्दे पर बातचीत कर चुके है।

तुर्की के संचार निदेशालय के एक बयान के अनुसार, राष्ट्रपति रेसेप तैयप एर्दोआन ने मलेशिया के राजा सुल्तान अब्दुल्ला सुल्तान अहमद शाह और कतर के शेख तमीम बिन हमद अल-थानी के साथ अलग-अलग फोन पर बातचीत की। मलेशिया के राजा के साथ बातचीत के दौरान, एर्दोआन ने “अल-अक्सा मस्जिद पर इज़राइल के हमलों के कारण फिलिस्तीनियों के उत्पीड़न के सामना करना पड़ा और उन्हे साथ की जरूरत है।”

बयान में कहा गया, “राष्ट्रपति एर्दोआन ने विश्वास व्यक्त किया कि तुर्की और मलेशिया सभी प्रासंगिक प्लेटफार्मों पर, विशेष रूप से संयुक्त राष्ट्र और इस्लामिक सहयोग संगठन में निकट सहयोग करेंगे।”

कतर के अमीर के साथ बातचीत में, एर्दोआन ने “अल-कुद्स, अल-अक्सा मस्जिद और फिलिस्तीनियों के खिलाफ इजरायल के हमलों के खिलाफ क्षेत्रीय देशों और अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को जुटाने के लिए तुर्की और कतर के संयुक्त प्रयास के महत्व पर प्रकाश डाला।”

इससे पहले एर्दोआन ने जॉर्डन किंग अब्दुल्ला द्वितीय के साथ बातचीत में कहा, सभी मुसलमान वास्तव में यरूशलेम, अल-अक्सा मस्जिद और फिलिस्तीनियों पर इज़राइल के अमानवीय हमलों से दुखी है। एर्दोआन ने इजरायल के “नीच” हमलों को रोकने के लिए एक साथ काम करने के महत्व पर प्रकाश डाला।

इजरायली सेना शुक्रवार से फिलिस्तीनियों पर हमले जारीं रखे हुए, उन्होंने अल-अक्सा मस्जिद में 200 से अधिक फिलिस्तीनियों को घायल कर दिया। जो मुसलमानों के लिए दुनिया का तीसरा सबसे पवित्र स्थल है।