No menu items!
23.1 C
New Delhi
Wednesday, October 20, 2021

मध्य-पूर्व में अब नहीं रहेगा कोई दवाइयों से वंचित, मिस्र ने किया सबसे बड़ी फार्मा सिटी का उद्घाटन

मिस्र के राष्ट्रपति अब्देल फतह अल-सिसी ने मध्य पूर्व के सबसे फार्मा सिटी का उद्घाटन किया है। जिसे गाइप्टो फार्मा सिटी के नाम से जाना जाता है।

गाइप्टो फार्मा, जिसे मेडिसिन सिटी के रूप में भी जाना जाता है, उचित मूल्य पर सुरक्षित और प्रभावी दवाओं का उत्पादन करने के लिए स्थापित की गई है। यह पुरानी बीमारियों के लिए कोरो’नावा’यरस के उपचार और दवाओं का निर्माण करेगी। कुछ विटामिनों के उत्पादन को भी प्राथमिकता दी जाएगी।

अल-खानकाह में नए शहर का उद्देश्य मध्य पूर्व में दवा उद्योग के लिए मिस्र को एक क्षेत्रीय केंद्र में बदलने के लिए राज्य और निजी क्षेत्र के बीच सहयोग बढ़ाना है।

गाइप्टो फार्मा सिटी में उत्पादन को सुनिश्चित करने के लिए नवीनतम तकनीकों और स्वचालित मशीनों का उपयोग किया गया है। डिवाइस स्वयं सफाई कर रहे हैं ताकि उत्पादन प्रक्रिया बिना किसी रुकावट के जारी रह सके।

राष्ट्रपति अल-सीसी ने उच्च गुणवत्ता वाले उत्पादों का उत्पादन करने के लिए शहर की आवश्यकता पर जोर दिया, जिसकी शुरुआत पैकेजिंग से हुई। उन्होंने कहा, “नए शहर द्वारा निर्मित दवा पैकेज अलग होना चाहिए ताकि उसके उत्पादों पर शहर के निशान से छेड़छाड़ न की जा सके।”

उन्होने बताया, “हमने लगभग सात साल पहले इस परियोजना के बारे में सोचना शुरू किया। राष्ट्रपति ने कहा, “वैज्ञानिक तरीकों का उपयोग करते हुए सबसे कुशल कारखानों को बनाने में बहुत समय लगा, ताकि शहर में उत्पादित दवाएं यूरोपीय मानकों या विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के मानकों का पालन करें।”

चिकित्सा शहर – 180,000 वर्ग मीटर के क्षेत्र में – मध्य पूर्व में अपनी तरह का सबसे बड़ा है। यह एक क्षेत्रीय केंद्र बनने के लिए तैयार है जो प्रमुख अंतरराष्ट्रीय दवा कंपनियों को आकर्षित करता है।

अल सीसी ने कहा, “हमारे पास उच्चतम स्तर पर दवा का उत्पादन करने की क्षमता होनी चाहिए। दवा शहर में उत्पादित एंटीबायोटिक दुनिया के सबसे प्रतिष्ठित देशों में अपने समकक्षों के समान ही कुशल होगी।

प्रेसीडेंसी के प्रवक्ता बासम रेडी ने कहा कि मिस्र अपनी 97 प्रतिशत दवाइयों की जरूरत का उत्पादन करता है। रेडी ने कहा कि शहर एक विशाल राष्ट्रीय परियोजना है जिसका उद्देश्य डब्ल्यूएचओ के मानकों के अनुसार वैज्ञानिक रूप से दवाओं का उत्पादन करना है।

पहले चरण में सालाना 150 मिलियन पैकेज दवा का निर्माण भी शामिल होगा। दूसरे चरण में मिस्र के नागरिकों को सस्ती कीमत पर पेश किए जाने वाले कैंसर उपचार जैसे विशेष दवाओं के क्षेत्र में प्रवेश करना शामिल होगा।

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Get in Touch

0FansLike
2,986FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Posts