मिस्र की स्वेज नहर में फंसा जहाज, समुद्र में लगा जाम, क्रूड के भाव भी बढ़े

मिस्र की स्वेज नहर में बड़ा कार्गो जहाज फंसने से समुद्र में यातायात ठप हो गया है। लाल सागर और भूमध्य सागर के किनारों पर बड़ी संख्या में जहाज खड़े हुए है। विशालकाय कंटेनर शिप एवर गिवेन चीन से  नीदरलैंड के पोर्ट रॉटरडैम माल लेकर जा रहा था। कंटेनर शिप पर पनामा का झंडा लगा हुआ है।

बता दें कि स्वेज नहर के रास्ते हर दिन हजारों की संख्या में जहाज यूरोप से एशिया और एशिया से यूरोप तक जाते हैं। स्वेज नहर से दुनिया का करीब 10 फीसदी शिपिंग ट्रेड होता है। लंबे समय तक ये रास्‍ता बंंद रहने से परेशानी हो सकती है और जहाजों को पूरे अफ्रीका महाद्वीप का चक्कर लगाते हुए यूरोप तक जाना पड़ेगा।

इस खबर के बाद क्रूड के भावों में इजाफा हो गया है। मिस्र के एक अधिकारी ने बताया कि जहाज के नहर में फंसने की वजह तेज हवा है।  मंगलवार को इस इलाके में तेज हवाएं चल रही थीं और रेतीला तूफान आया था। सोशल मीडिया पर पोस्ट की गई तस्वीरों में जहाज को पूरी तरह से अवरुद्ध करते हुए, नहर के पार तिरछे स्थान पर दिखाया गया।

दुबई स्थित समुद्री सेवा कंपनी जीएसी ने बुधवार को अपनी वेबसाइट पर कहा, ” जैसे ही जहाज को दूसरी स्थिति में ले जाया जाता है, वैसे ही काफिले और यातायात फिर से शुरू होने की उम्मीद है।

चेयरमैन ओसामा रबी ने कहा कि प्राधिकरण देरी वाले जहाजों के मुआवजे पर विचार कर रहा है। ‘एवरग्रीन मरीन कोर’ ने एक बयान में बताया कि तेज हवाओं के कारण ऐसा हुआ, लेकिन उसका एक भी कंटेनर डूबा नहीं है।

जहाज के तकनीकी प्रबंधक बर्नहार्ड शुल्ते शिपमैनमेंट (बीएसएम) ने कहा, एवर गिव्स, जो दुनिया के सबसे बड़े कंटेनर जहाजों में से एक है, मंगलवार को लगभग 05:40 जीएमटी पर नहर में घिरा। जिसकी एक जांच चल रही।