यूरोप ने बाढ़ ने मचाही तबाही, डच पीएम बोले – जलवायु परिवर्तन का परिणाम

यूरोप में आई बाढ़ तबाही मचा कर रख दी है। ऐसे में डच प्रधान मंत्री ने इस बाढ़ को जलवायु परिवर्तन का परिणाम बताया। उन्होने कहा, देश दक्षिण हिस्सा बुरी तरह से प्रभावित है और इसके लिए एक मिलियन यूरो से ऊपर की आवश्यकता है।

शनिवार को यूरोप में भीषण बाढ़ में 150 से अधिक लो’ग मारे गए हैं। जिनमे ज्यादातर जर्मन शामिल है। दक्षिणी नीदरलैंड के कई शहरों को इस सप्ताह बाढ़ से नुकसान हुआ। हालांकि र्मनी और बेल्जियम के हालात बुरी तरह से बिगड़ गए।

शुक्रवार की देर रात लिम्बर्ग के दक्षिणी प्रांत की यात्रा के दौरान यह पूछे जाने पर कि क्या ग्लोबल वार्मिंग ने आपदा में योगदान दिया है, प्रधान मंत्री मार्क रूट ने कहा कि “निस्संदेह मामला” यही है।

उन्होंने कहा, ‘मैं जल्दबाजी में कोई घोषणा नहीं करना चाहता। “लेकिन वास्तव में कुछ हो रहा है, चलो स्पष्ट हो।” नीदरलैंड में सबसे अधिक प्रभावित क्षेत्रों की सहायता के लिए एक मिलियन यूरो से अधिक एकत्र किए गए हैं।

रूट ने कहा, “हम देखते हैं कि पड़ोसी देश कह रहे हैं कि ‘हमें इस तथ्य से निपटने के लिए डचों से और भी सीखना चाहिए कि आने वाले वर्षों में और पानी होगा।”  लेकिन डचों को भी “सबक सीखना” होगा और पूछना होगा कि “हम और क्या कर सकते हैं?”