डेनिश पीएम मुस्लिम परिवार के साथ हुई खड़ी, न’स्लीय दुर्व्य’वहार करने वालों को लगाई लताड़

डेनमार्क में एक मुस्लिम परिवार के खिलाफ बड़े पैमाने पर गा’ली-गलौ’ज दिखाने वाली एक वीडियो क्लिप पर यूरोपीय देश के प्रमुख राजनेताओं की कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की है, जिसमें डेनमार्क की प्रधान मंत्री भी शामिल है।

एक डेनिश व्यक्ति द्वारा मुस्लिम परिवार के साथ अकारण ही गा’ली-ग’लौज की जा रही थी। इस फुटेज को कोपेनहेगन के कस्त्रुप हार्बर के पास कोड्स हमदी द्वारा रिकॉर्ड किया गया था। जो मंगलवार को वायरल हो गई।

फुटेज में उस व्यक्ति को यह चिल्लाते हुए सुना जा सकता है कि “आप अपने देश क्यों नहीं जाते हैं।” “अपनी त्वचा का रंग देखो, तुम पीले हो, तुम यहाँ नहीं रह सकते हो। यह तुम्हारा देश नहीं है, लानत है, तुम यहाँ मेहमान हो।”

इस मामले की निंदा करते हुए डेनिश प्रधान मंत्री मेटे फ्रेडरिकसन ने अपने फेसबुक पेज पर पोस्ट किए गए एक बयान में कहा कि वह इस घटना से “प्रभावित” हुई और “हम सभी की जिम्मेदारी है कि हम न’स्लवाद, नफ’रत और भेद’भाव के खिलाफ बोलें।”

प्रधान मंत्री ने लिखा, “माता-पिता और दो छोटे बच्चों को उनकी त्वचा के रंग के कारण चौंकाने वाले और न’स्लवादी शब्दों को सहन करने के लिए मजबूर किया गया। इसने मुझे प्रभावित किया। परिवार में स्थिति का सामना करने का साहस था … यह ‘ टी डेनमार्क में हैं।”

डेनमार्क के आव्रजन मंत्री मटियास टेस्फेय ने केवल इतना कहा कि वह वीडियो के बारे में सुनकर “दुखी” थे। सोशल डेमोक्रेटिक नागरिकता के प्रवक्ता लार्स असलान रासमुसेन ने भी इस घटना को “स्पष्ट रूप से न’स्लवादी” बताया, लेकिन फिर दावा किया कि डेनमार्क आमतौर पर एक सहिष्णु देश रहा।