20 साल बाद अफगानिस्तान से खाली लौटा अमेरिका, बगराम एयर बेस को छोड़ा

सभी अमेरिकी और ना’टो सैनि’कों ने आखिरकार 20 साल बाद अफगानिस्तान के सबसे बड़े एयर बेस को छोड़ दिया है। एक अमेरिकी रक्षा अधिकारी ने शुक्रवार को एएफपी को बताया, दो दशकों के यु;द्ध के बाद देश से विदेशी बलों की पूरी तरह से वापसी का यह संकेत है।

बगराम एयर बेस ने अफगानिस्तान में अमेरिकी अभियानों के लिए महत्वपूर्ण रूप में कार्य किया, जहां तालि’बान और उनके अल-का*यदा सहयोगियों के खिलाफ लंबे यु;द्ध को हवाई क्षेत्र से एक मिशन के साथ लड़ा गया था।

अधिकारी ने कहा, “सभी गठबंधन से’ना बगराम से दूर हैं।” उन्होंने यह नहीं बताया कि इसे आधिकारिक तौर पर अफगान ब’लों को कब सौंपा जाएगा। एक वरिष्ठ अफगान अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर एएफपी को बताया, “हमें अभी तक अफगान ब’ लों को ठिकाना सौंपे जाने के बारे में कोई आधिकारिक सूचना नहीं मिली है।”

महत्वपूर्ण बगराम हवाई क्षेत्र पर नियंत्रण बनाए रखने के लिए अफगान ब’लों की क्षमता निकटवर्ती राजधानी काबुल में सुरक्षा बनाए रखने और तालि’बान पर दबाव बनाए रखने के लिए महत्वपूर्ण साबित होगी।

1950 के दशक में शीत यु’द्ध के दौरान अमेरिका ने अपने अफगान सहयोगी के लिए बगराम का निर्माण उत्तर में सोवियत संघ को रोकने के लिए किया था। अब तक जर्मनी और इटली दोनों ने अपने सैनि’कों की पूर्ण वापसी की पुष्टि की है।