No menu items!
23.1 C
New Delhi
Tuesday, November 30, 2021

ताइवान को लेकर चीन से निपटने के लिए अमेरिका और कनाडा ने भेज दिये अपने यु’द्धपोत

चीन ने अमेरिका और कनाडा पर ताइवान जलडमरूमध्य में “शांति और स्थिरता को गंभीर रूप से ख’तरे में डालने” का आरोप लगाया। दरअसल दोनों देशों ने संकीर्ण जलमार्ग के माध्यम से यु’द्धपोत भेजे थे। चीनी रक्षा मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि अमेरिका और कनाडा ने “अजीब प्रकृति के साथ उकसाया और काहूट में परेशानी पैदा की, जिसने ताइवान जलडमरूमध्य में शांति और स्थिरता को गंभीर रूप से ख’तरे में डाल दिया।”

अमेरिकी नौसे’ना के विध्वं’सक यूएसएस डेवी (डीडीजी-105) और रॉयल कैनेडियन नेवी फ्रिगेट एचएमसीएस विन्निपेग के शुक्रवार को ताइवान जलडमरूमध्य से गुजरने के बाद यह बयान आया है। पीएलए के प्रवक्ता सीनियर कर्नल शी यी ने कहा, “ताइवान चीन का हिस्सा है। पीएलए (पीपुल्स लिबरेशन आ’र्मी) ईस्टर्न थिएटर कमांड के जवान हर समय हाई अलर्ट पर हैं और सभी ख’तरों और उकसावे का डटकर मुकाबला करने के लिए तैयार हैं।”

उन्होंने कहा कि पीएलए ने “उकसाने” का जवाब नौसे’ना और वायु से’ना को “पूरे पाठ्यक्रम में दो यु’द्धपोतों पर नज़र रखने और निगरानी करने के लिए” भेजकर दिया। ताइवान पर बढ़ते तनाव के बीच अपनी दक्षिण-पूर्वी सीमाओं के करीब दो युद्धपोतों की यात्रा के प्रति बीजिंग की नाराजगी आई है।

चीन इस महीने की शुरुआत से अब तक ताइवान के वायु रक्षा पहचान क्षेत्र (ADIZ) में लगभग 150 बार यु’द्धक विमान भेज चुका है। ADIZ एक देश के हवाई क्षेत्र के बाहर एक बफर ज़ोन है जहाँ उसे आने वाले विमानों को अपनी पहचान बताने के लिए कहने का अधिकार है।

चीन ताइवान को एक “विखंडित प्रांत” के रूप में दावा करता है, जबकि ताइपे ने 1949 से अपनी स्वतंत्रता पर जोर दिया है और कम से कम 15 देशों के साथ राजनयिक संबंध रखता है । साथ ही, अमेरिकी मीडिया रिपोर्टों में दावा किया गया है कि अमेरिकी विशेष बल और मरीन कम से कम एक साल से गुप्त रूप से ताइवानी बलों को प्रशिक्षण दे रहे हैं।

वॉल स्ट्रीट जर्नल ने इस महीने की शुरुआत में अज्ञात अमेरिकी अधिकारियों का हवाला देते हुए कहा, “एक अमेरिकी विशेष अभियान इकाई और मरीन की एक टुकड़ी ताइवान में गुप्त रूप से सै’न्य बलों को प्रशिक्षित करने के लिए काम कर रही है।”

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Get in Touch

0FansLike
3,034FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Posts

error: Content is protected !!