बिमारी के कारण बिस्तर से नहीं उठ सकते लेकिन फिर भी एम्बुलेंस में पंहुचे हज करने तीर्थयात्री

0
141

तीर्थयात्रियो की हज को लेकर ऐसे जूनून और जज्बे से भरे किस्से देख कर हर किसी का मन गौरव से भर जाता है. हज की शुरुआत से ही लगातार ऐसे तमाम लोग देखने को मिले है जो अपने असहाय और दयनीय स्थिति को नज़रंदाज़ कर अपने जज़्बे की मिसाल कायम कर रहे है और साथ ही औरो के लिए भी आत्मविश्वास का स्त्रोत बन रहे है. कुछ ऐसे लोग भी है जो बिस्तर से उठने में असहाय है लेकिन हज करने के लिए आना चाहते है उनके लिए सरकार द्वारा एक बड़ा कदम उठाया गया है.

आपको बता दें कि सऊदी स्वास्थ्य मंत्रालय ने मदीना के अस्पतालों से बिस्तर पर पड़े मरीजों को मक्का के पवित्र स्थलों तक पहुंचाने के लिए मंगलवार को 10 एम्बुलेंस के काफिले का आयोजन किया गया। मरीजों के साथ डॉक्टरों, नर्सों और पैरामेडिक्स की एक मेडिकल टीम भी थी। काफिले में पांच खाली अतिरिक्त एम्बुलेंस, एक intensive care एम्बुलेंस, एक ऑक्सीजन केबिन, एक mobile first-aid unit, और मरीजों के साथियों को ले जाने के लिए एक बस शामिल थी।

विज्ञापन

साथ ही आपको बता दें कि यह हर साल होता है, अधिकारी मरीजों को हज करने में मदद करते हैं और फिर मक्का में चिकित्सा उपचार प्राप्त करते हैं.स्वास्थ्य मंत्रालय इस मौसम में अन्य तरीकों से तीर्थयात्रियों की सेवा करता है। अपने प्रयासों के तहत, इसने मक्का और मदीना में गुर्दे की विफलता वाले लोगों के लिए एक दिन में 1,000 डायलिसिस सत्र और एक महीने में 30,000 डायलिसिस सत्र की तैयारी की है। इसके अलावा 10 उपकरणों के साथ एक मोबाइल डायलिसिस सेवा भी है जो परिवहन और काम करने में आसान है। उनका उपयोग आपात स्थिति के मामलों में और उन अस्पतालों में किया जा सकता है जहां केंद्रीय डायलिसिस इकाइयां नहीं हैं।

इस साल हीट स्ट्रेस और हीट स्ट्रोक होने की संभावना है क्योंकि हज का मौसम बढ़ते तापमान के साथ मेल खाता है। इसके लिए भी इंतज़ाम किये गये है जिसमे 238 बेड हैं जिन्हें हीट स्ट्रोक के मामलों के लिए आवंटित किया गया है, जिसमें पवित्र स्थलों के अस्पतालों में 172 बेड, मक्का में 51 बेड और मदीना में 15 बेड शामिल हैं और मंत्रालय ने बड़ी संख्या में धुंध वाले पंखे भी उपलब्ध कराए हैं, जो हीट स्ट्रेस और हीट स्ट्रोक के मामलों से निपटने में प्रभावी हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here