बांग्लादेश रोहिंग्याओं को लेकर सऊदी अरब से चाहता है ये बड़ी मदद

बांग्लादेश ने रोहिंग्या मुसलमानों के उनके गृह देश म्यांमार में स्थायी प्रत्यावर्तन के लिए सऊदी अरब से सहयोग मांगा है।

बांग्लादेश के विदेश मंत्री एके अब्दुल मोमेन ने अपने सऊदी समकक्ष फैसल बिन फरहान अल सऊद से फोन पर बात करते हुए ये अपील की, शनिवार को बांग्लादेशी विदेश मंत्रालय ने एक बयान जारी कर ये जानकारी दी।

बांग्लादेश वर्तमान में 1.2 मिलियन से अधिक रोहिंग्या शरणार्थियों की मेजबानी कर रहा है, जिनमें से अधिकांश अगस्त 2017 में रखाइन में एक क्रू’र सै’न्य कार्रवाई से बचकर भाग आ थे।

बयान में मंत्री के हवाले से कहा गया है, “बांग्लादेश राज्यविहीन रोहिंग्याओं को उनके गृह देश में सुरक्षित और सम्मानजनक प्रत्यावर्तन के लिए सबसे ज्यादा महत्व देता है।”

SOURCE: SAUDI GAZETTE

मोमेन ने सऊदी अरब से ढाका को म्यांमार में उनके मूल जन्म स्थान पर लंबे समय से रुके हुए शांतिपूर्ण प्रत्यावर्तन शुरू करने में मदद करने का आग्रह किया।

ढाका ने रियाद से सऊदी अरब में बांग्लादेशी प्रवासियों के लिए अनिवार्य क्वारंटाइन को भी आसान बनाने का भी अनुरोध किया। वर्तमान में, लगभग 2.5 मिलियन बांग्लादेशी प्रवासी सऊदी अरब में काम कर रहे हैं।