ब्रिटेन में पैगंबर पर कार्टून का प्रदर्शन, मिस्र के अल-अजहर ने जताई नाराजगी

सुन्नी मुस्लिम दुनिया की सर्वोच्च संस्था अल-अजहर ने ब्रिटेन में पैगंबर मुहम्मद (सल्ल) के अपमान करने वाले कार्टून के प्रदर्शन की निंदा की है।

एक बयान में, काहिरा स्थित संस्था के ऑब्ज़र्वेटरी फॉर कॉम्बिंग एक्सट्रीमिज़्म ने कैरिकर्स को एक “घृ’णित कार्य” के रूप में वर्णित किया, जो “घृ’णास्पद अभिव्यक्ति” के रूप में है।

उन्होंने कहा, “यह दुनिया भर के लगभग दो अरब मुसलमानों की भावनाओं का अन्यायपूर्ण उकसाव है।”

22 मार्च को, इंग्लैंड के वेस्ट यॉर्कशायर के बेटले ग्रामर स्कूल में शिक्षक ने अपनी कक्षा के दौरान पैगंबर मुहम्मद (सल्ल) के आक्रामक कार्टून प्रदर्शित किए। माना जाता है कि इन कैरिकेचर को फ्रांसीसी पत्रिका चार्ली हेब्दो ने प्रकाशित किया था।

गुरुवार और शुक्रवार को पुलिस की मौजूदगी में कैरिकेचर का विरोध करने के लिए सैकड़ों लोग स्कूल के सामने जमा हुए और इस घटना में शामिल शिक्षक को बर्खास्त करने की मांग की।

स्थानीय मीडिया ने बताया कि स्कूल ने शिक्षक को निलंबित कर दिया और दिन के लिए उसके ऑनलाइन शिक्षण कार्यक्रम पर भी लगा दी। स्कूल के निर्देशक गैरी केपल ने “स्पष्ट रूप से” इस घटना के लिए माफी मांगी, और कहा कि “शिक्षक ने भी माफी मांगी”।

अल-अजहर ने कहा कि यह घटना से “दुखी” है, इस तरह के व्यवहार को स्वीकार नहीं किया जा सकता।