No menu items!
42.1 C
New Delhi
Saturday, May 21, 2022

41 साल बाद शेख अली अल हुदाइफ़ा नहीं पढ़ाएंगे इस साल मस्जिदल नबवी में तरावीह

रमजान शुरू होने वाले हैं इसी के चलते अब सऊदी सरकार ने 2 साल के बाद फिर से उसी तरह से तरावीह और तहज्जुद की नमाज के लिए पाबंदियों को खत्म कर दिया है इसी तरह मस्जिद-ए-नबवी में भी तरावीह की नमाज पढ़ाई जाएगी।

1981 से Sheikh Ali Ibn Abdurrahman Alhuzaifi तरावीह की नमाज को पढ़ाया करते थे कई सालों से वही नबी की मस्जिद में तरावीह को पढ़ाते थे लेकिन अब Haramain Sharifain ने यह कहां है कि कई सालों के बाद Sheikh Huzhaifi का तरावीह की नमाज को मस्जिद-ए-नबवी में अब नहीं पढ़ाएंगे।

ऐसा क्यों हुआ है उसका अभी कारण नहीं बताया गया है लेकिन शायद उनकी बहुत ज्यादा उम्र की वजह से यह फैसला लिया गया है 75 साल के इमाम हर साल नबी की मस्जिद में तरावीह और तहज्जुद की नमाज़ को रमजान में पढ़ाया करते थे।

उनकी आवाज से हजारों लोग मुतास्सिर होकर उन्हें ध्यान से सुना करते थे जिसके चलते अब तक लाखों लोगों ने उनको सुना है ज्यादा उम्र की वजह से शायद यह फैसला लिया गया है।

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Get in Touch

0FansLike
3,319FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Posts