तब्लीगी जमात पर ‘आपत्तिजनक’ कवरेज के लिए 3 समाचार चैनलों पर लगा 1 लाख रुपये का जु’र्माना

समाचार प्रसारण मानक प्राधिकरण (एनबीएसए) ने भारत में को’विड-19 महामारी की शुरुआत में तब्लीगी जमात मामले में ‘आपत्तिजनक’ रिपोर्टिंग के लिए एक राष्ट्रीय समाचार चैनल और दो क्षेत्रीय समाचार चैनलों पर जुर्माना लगाया है।

द न्यूज मिनट की रिपोर्ट के अनुसार, एनबीएसए ने ‘मुसलमानों को निशाना बनाने’ की घटना के पक्षपाती कवरेज के लिए तीन समाचार चैनलों पर 1 लाख रुपये का जुर्माना लगाया है।  तीन चैनलों में से एक को अपने दर्शकों से माफी मांगने को भी कहा गया है।

मार्च 2020 में, जब राज्यों में को’विड -19 के पहले मामले सामने आ रहे थे, तब्लीगी जमात ने एक कार्यक्रम का आयोजन किया था, जिसमें सैकड़ों लोगों की भागीदारी देखी गई थी, जिसमे कई विदेशी भी थे।

इस कार्यक्रम को लेकर मुस्लिम समुदाय पर वायरस फैलाने का आरोप लगाया गया। एनबीएसए ने कहा है कि जिस तरह से तीन समाचार चैनलों ने इस घटना को रिपोर्ट किया वह बेहद आपत्तिजनक और अनुमान पर आधारित थी।

एनबीएसए ने अपने आदेश में कहा है – “(कार्यक्रमों का) लहजा, रंग और भाषा अशिष्ट, पूर्वाग्रह से ग्रसित और अपमानजनक थी। कार्यक्रम पूर्वाग्रह से ग्रसित, भड़काऊ थे, और एक धार्मिक समूह की भावनाओं की परवाह किए बिना सभी सीमाओं को पार कर गए। इसका उद्देश्य समुदायों के बीच नफरत को बढ़ावा देना और भड़काना था।”