बिहार जा रहा था मजदूर, शमी के घर के बाहर हो गया बेहोश, कुछ इस तरह से की मदद

लॉक डाउन के बीच विभिन्न राज्यों में फंसे प्रवासी मजदूर जैसे-तैसे अपने घरों को लौटने की कोशिश कर रहे है। ऐसे में भारतीय क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी अमरोहा में ऐसे ही लोगों की मदद में जुटे हैं और उनके रहने व खाने पीने का इंतजाम करवा रहे हैं। शमी ने भारतीय स्पिनर युजवेंद्र चहल के साथ इंस्टाग्राम पर लाइव वीडियो चैट में यह जानकारी दी।

इस दौरान उन्होने एक वाकया भी बताया। शमी ने बताया कि एक अपने शहर के एक ग्रुप के साथ काम कर रहे हैं, जो जरूरतमंदों के खाने और रहने की व्यवस्था कर रहा है।  इस दौरान शमी ने बताया कि किस तरह उन्होंने एक शख्स की मदद की, जो उनके दरवाजे तक पहुंचा और बेहोश हो गया।

मो. शमी ने इस घटना का बारे में बात करते हुए चहल से कहा कि एक मजदूर जो राजस्थान से आया था और उसे बिहार जाना था। उसके पास वहां पहुंचने के लिए कोई साधन नहीं था। मैंने अपने घर में सीसीटीवी कैमरे के जरिए देखा कि वो मेरे दरवाजे के पास भूख के मारे बेहोश हो गया है। इसके बाद मैंने उसके खाने का इंतजाम किया और फिर उसकी मदद की। शमी ने ये भी बताया कि उनके घर के पास से हाईवे गुजरता है और लोग काफी मुश्किलों में हैं और परेशानी का सामना कर रहे हैं।

उन्होंने कहा, ”मैं कोशिश कर रहा हूं कि जितनी मदद कर सकता हूं, उतनी करूं। यहां कई प्रवासी मजदूर हैं, जो अपने घर पहुंचने के लिए संघर्ष कर रहे हैं। हाईवे मेरे घर के पास है, जो मैं देख सकता हूं कि लोग किन मुश्किलों का सामना कर रहे हैं। मुझे लगता है कि मुझे मदद करनी चाहिए और जितनी मदद कर सकता हूं मैं कर रहा हूं।”

इस लाइव सेशन के दौरान शमी ने कहा कि होम आइसोलेशन में भारतीय टीम के खिलाड़ी खाना बनाना जरूर सीख जाएंगे। उन्होंने कहा, ”मैं भी खाना बनाना सीख रहा हूं। मैं रसोई में जाता हूं और अपनी मां की मदद करता हूं।”


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE