सोनू सूद ने अब यूपी-बिहार-झारखंड के मजदूरों को बसों से अपने घर पहुंचाया

कोरोना वायरस की वजह से हुए लॉकडाउन में फंसे यूपी, बिहार और झारखंड के प्रवासी मजदूरों को एक्टर सोनू सूद ने शनिवार को बसों की व्‍यवस्‍था कर अपने घर पहुंचाया।

प्रवासी मजदूरों से भरी कई बसें शनिवार को मुंबई के वडाला इलाके से यूपी के लखनऊ, हरदोई, प्रतापगढ़ और सिद्धार्थनगर सहित प्रदेश के विभिन्न शहरों व बिहार और झारखंड जैसे राज्यों के लिए रवाना हुईं। इस काम में उनकी दोस्त नीति गोयल ने भी उनका साथ दिया।

इन प्रवासियों के लिए सोनू ने व्यक्तिगत रूप से व्‍यवस्‍था की और उन्हें भोजन किट भी प्रदान की। इस बारे में बात करते हुए ऐक्‍टर ने कहा, ‘मेरे लिए यह बहुत ही भावुक यात्रा रही है। इन प्रवासियों को अपने घर से दूर सड़कों पर घूमते हुए देखने के बाद मुझे बहुत दुख हुआ। मैं यह काम तब तक जारी रखूंगा, जब तक आखिरी प्रवासी अपने घर और चाहनेवालों तक ना पहुंच जाए।’

उन्होने कहा कि ये मेरा कर्तव्य है कि हम प्रवासियों को जो हमारे देश के दिल की धड़कन है उनकी मदद करें। हमने प्रवासियों को अपने परिवारों और बच्चों को सड़क पर चलते देखा है। हम सिर्फ एसी में बैठकर ट्वीट नहीं कर सकते और अपनी चिंता जब तक नहीं दिखा सकते हैं जब तक हम सड़कों पर नहीं जाते। जब तक हम उनमें से एक न बन जाते। तब तक उन्हें ये भरोसा नहीं होगा कि उनके लिए कोई खड़ा है।

सोनू ने आगे बताया कि अब मुझे बहुत सारे मेल और मैसेज रोज आते हैं कि जिसमें लोग कहते हैं कि वो यात्रा करना चाहते हैं और मैं सुबह से शाम तक नॉन-स्टॉप इसके लिए कोशिस कर रहा हूं। इस लॉकडाउन के दौरान यही मेरा एक मात्र काम है। मुझे इतना सूकून है कि मैं शब्दों में बता नहीं सकता।

इससे पहले हाल ही में सोनू ने मुंबई में फंसे कर्नाटक के 350 से ज्यादा मजदूरों की मदद करते हुए उन्हें गुलबर्गा पहुंचाया था। इसके लिए 10 बसों का पूरा खर्चा उन्होंने ही उठाया था। तब भी उन्होंने दोनों राज्यों से सभी तरह की अनुमति लेने के बाद ये काम किया था।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE