अर्तुरुल गाजी के बाद तुर्की सीरियल ‘सुल्तान हमीद’ के दीवाने हो रहे मुसलमान

लॉकडाउन में अर्तुरुल गाजी सीरियल ने हिन्दुस्तान के लोगों को अपना दीवाना बना लिया है। लॉकडाउन के दौरान ही इस सीरियल के पांचों सीजन देखें जा चुके है। कई लोगों ने अर्तुरुल गाजी के बेटे पर बने सीरियल उस्मान को भी देख खत्म कर दिया है। ऐसे में अब तुर्की सीरियल ‘सुल्तान हमीद’ लोगों की दीवानगी का सबब बन रहा है।

तुर्की में बना सुल्तान हमीद सीरियल उस्मानी साम्राज्य के 34वें सुल्तान और आख़िरी शासक अबुल हमीद द्वितीय के जीवन पर आधारित है। अबुल हमीद ने 31 आगस्त 1876 से 27 अप्रैल 1909 तक शासन किया। अब्दुल हमीद को पश्चिम में “लाल सुल्तान” या “शापित अब्दुल” के नामों से पुकारा जाता था।

उन्होने अपने दौरे हुकूमत में इजरायल यानि यहूदी रियासत को फिलिस्तीन में बनने से रोकने के लिए हर कोशिश को नाकाम किया। जो सीरियल की शुरुआत से ही दिखाया गया है। रुमेलिया रेलवे और अनातोलिया रेलवे के विस्तार के दौरान जिसमे बग़दाद और हिजाज़ रेलवे का निर्माण भी शामिल है। एक ब्रिटिश यहूदी थियोडोर हर्ज़ल नक्शे बदल, ट्रेनों को नष्ट कर, फिलिस्तीन में यहूदियों का कत्लेआम करने की कोशिश करता है। जिससे सुल्तान हमीद अपने सूझबूझ से नाकाम कर देते है। थियोडोर हर्ज़ल, आधुनिक ज़ायोनिज़्म के उदार संस्थापक श्रृंखला के खलनायकों में से एक हैं।

इसके अलावा ये पूरी सीरीज सुल्तान अब्दुलामहिद के शासन के पिछले 13 वर्षों को चिह्नित करती है। इसमें एक युद्ध शामिल है जिसके परिणामस्वरूप ग्रीक युद्ध में ओटोमन साम्राज्य, की जीत हुई। यह फिलिस्तीन और पहली ज़ायोनी कांग्रेस से भूमि के लिए अनुरोध को भी दर्शाता है। एक और महत्वपूर्ण परियोजना जो सुल्तान ने सफल की वह हेजाज़ रेलवे का काम है। श्रृंखला का मुख्य विषय अंत तक संघर्ष और लड़ाई है।

ये सीरियल उर्दू जुबान में भी मौजूद है। जिसे यूट्यूब पर आसानी से देखा जा सकता है। इसके अलावा गूगल प्लेस्टोर पर Payitht Abdulhamid in Urdu में मौजूद है। इस सीरियल के भी चार सीजन है। पूरे सीरियल को डेली मोशन पर भी आसानी से उर्दू में डबिंग में देखा जा सकता है।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE