नेपोटिज्म पर बोली करीना कपूर – स्ट्रगल किया, 21 साल तक ऐसे ही नहीं चला करियर

मुंबई. सुशांत सिंह राजपूत आत्महत्या के बाद बॉलीवुड में नेपोटिज्म का मुद्दा गर्माया हुआ है। इसी बीच एक्ट्रेस करीना कपूर खान ने अपनी चुप्पी तोड़ते हुए कहा कि उनका 21 साल का करियर नेपोटिज्म पर नहीं बल्कि स्ट्रगल पर चला है।उन्होने ये भी कहा कि अगर पब्लिक को नेपोटिज्म से तकलीफ है तो उनकी फिल्में ना देखें।

करीना ने कहा कि फिल्म जगत में आप सिर्फ नेपोटिज्म के भरोसे नहीं टिक सकते। 21 साल तक फिल्म इंडस्ट्री में मैं सिर्फ नेपोटिज्म के चलते नहीं टिक पाती। यह संभव नहीं है। मैं उन सुपरस्टार्स के बच्चों की एक लंबी लिस्ट बना सकती हूं जो ये नहीं कर पाए। करीना ने कहा कि एक डॉक्टर का बच्चा जाहिर तौर पर अपने पेरेंट्स की तरह ही बनना चाहेगा।

उन्होने कहा कि कपूर खानदान से आने पर उन्हें प्राथमिकताएं मिली हैं। लेकिन इसके बावजूद खुद को साबित करने के लिए उन्होंने कड़ी मेहनत भी की है। करीना ने कहा उन्हें नहीं लगता कि उन्होंने जो कुछ भी पाया है वो सिर्फ कपूर परिवार का टैग होने की वजह है।

View this post on Instagram

Waiting for 2021… 🤷🏻‍♀️🤣

A post shared by Kareena Kapoor Khan (@kareenakapoorkhan) on

बेबो ने आगे कहा, ‘यह अजीब लग सकता है लेकिन शायद मेरा संघर्ष वहीं है। मेरा संघर्ष आपको उतना दिलचस्प नहीं लगेगा, जितना किसी उस स्ट्रग्लर का लगेगा जो जेब में 10 रुपये लेकर मुंबई आया हो। हां मैंने वो संघर्ष नहीं किया लेकिन इसके लिए दुखी नहीं हो सकती।’

उन्होंने कहा कि दर्शकों ने हमें बनाया है, किसी और ने नहीं बनाया है। आज उंगलियां उठाने वाले वो ही लोग हैं, जिन्होंने नेपोटिस्टिक स्टार्स को बनाया है। मुझे लगता है कि यह बहस पूरी तरह से अजीब है। आज हमारे कई बड़े स्टार्स हैं, चाहे वो अक्षय कुमार हों या शाहरुख खान या आयुष्मान खुराना या राजकुमार राव, वो सभी बाहरी हैं। आप हमें देख रहे हैं और हमारी फिल्मों का आनंद ले रहे हैं। इसलिए, सिर्फ दर्शक ही हैं जो हमें बनाते हैं।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE