दिल्ली हाईकोर्ट ने जूही चावला पर लगाया 20 लाख का जुर्माना, 5जी के खिलाफ दायर की थी याचिका

90 दशक की क्यूट बॉलीवुड  एक्ट्रेस जूही चावला पर 20 लाख रुपए का जुर्माना लगा है। उन पर ये जुर्माना दिल्ली हाईकोर्ट ने लगाया है। दरअसल, जुही चावला ने सोमवार को 5जी टेक्नोलेजी के खिलाफ दायर की थी। कोर्ट ने इस याचिका को एक पब्लिसिटी स्टंट माना।

कोर्ट का कहना है कि इससे प्रतीत होता है कि इस मुकदमें को सिर्फ पब्लिसिटी के लिए दायर किया गया। कोर्ट ने कहा कि चिकाकर्ता (जूही चावला) को खुद नहीं पता कि उनकी याचिका तथ्यों पर आधारित नहीं होकर, पूरी तरह से कानूनी सलाह पर आधारित थी। यह जुर्माना उन पर पब्लिसिटी के लिए कोर्ट के समय के दुरुपयोग के लिए लगाया गया है।

जूही की याचिका पर फैसला देते हुए दिल्ली हाईकोर्ट ने कहा कि इनकी याचिका में सिर्फ कुछ ही ऐसी जानकारी है जो सही है बाकी सिर्फ कयास लगाए गए हैं और संशय जाहिर किया गया है। कोर्ट ने इसके साथ ही जूही चावला से कहा कि वो इस मामले में नियमों के साथ जो कोर्ट की फीस बनती है वो भी जमा करें।

इससे पहले  हाईकोर्ट ने सुनवाई के दौरान गाना गाने वाले सख्श समेत उन सभी लोगों को अवमानना का नोटिस जारी किया जिन्होने अवैध तरीके से सुनवाई में भाग लिया।

बता दें कि अपनीयाचिका में जुही ने कहा था कि 5 जी वायरलेस नेटवर्क से मानव के अलावा पशुओं, वनस्पतियों और जीवों पर भी रेडिएशन का कुप्रभाव पड़ रहा है। उन्होने कहा, इसे लागू किये जाने से पहले इससे जुड़े तमाम तरह के अध्ययनों पर बारीकी से गौर किया जाए और फिर उसके बाद ही इस टेक्नोलॉजी को भारत में लागू करने के बारे में विचार किया जाए।

उन्होने सवाल उठाया था कि  इस नई तकनीक पर क्या पर्याप्त शोध किया गया है? उन्होने ये भी कहा कि यदि 5जी के लिए दूरसंचार उद्योग की योजना सफल होती है तो ऐसा कोई व्यक्ति, पशु-पक्षी, कीट, पेड़ पौधा नहीं होगा जो दिन के 24 घंटे और साल के 365 दिन आरएफ विकिरण के स्तर से बचने में सक्षम होगा जो कि मौजूदा विकिरण से 10 से 100 गुना तक अधिक है।