No menu items!
28.1 C
New Delhi
Thursday, August 5, 2021

सोनू सूद ने कंसंट्रेटर की खेप रोकने का लगाया आरोप तो चीनी राजदूत ने दिया मदद का भरोसा

Must read

- Advertisement -

अभिनेता सोनू सूद ने चीन पर भारत को ऑक्सीजन कंसंट्रेटर्स की “एक बड़ी खेप” को अवरुद्ध करने का आरोप लगाया। जिसके बाद भारत में चीन के राजदूत सन विडोंग ने कहा कि उनका देश कोरोना से निपटने के लिए भारत की पूरी मदद करेगा।

सन विडोंग ने एक ट्वीट में कहा, “भारत को को’विद -19 से लड़’ने और भारत का समर्थन करने के लिए चीन पूरी कोशिश करेगा। मेरी जानकारी के अनुसार, चीन से भारत के लिए मालवाहक हवाई मार्ग सामान्य रूप से चल रहे हैं। पिछले दो सप्ताह में चीन से भारत में 61 मालवाहक उड़ानें संचालित हुई हैं।

दरअसल सोनू सूद ने शनिवार को बताया कि उन्होंने चीन से बड़ी संख्या में ऑक्सीजन कंसंट्रेटर ऑर्डर किए हैं, लेकिन चीन उनकी आपूर्ति को रोक रहा है। उन्होंने भारत और देश के विदेश मंत्री से इस मामले पर गौर करने को कहा। उन्होने कहा, “हमारी मदद करने के लिए हमारी खेप को साफ करने में मदद की ताकि हम जान बचा सकें”।

चीनी राजदूत ने ये भी कहा कि चीनी राष्ट्रपति ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को “सहानुभूति का संदेश” भेजा है। उन्होने ट्वीट किया, “चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने आज भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सहानुभूति का संदेश भेजा हैं। जिसमे राष्ट्रपति शी कहते हैं, ‘मैं भारत में को’विद -19 महामारी की हालिया स्थिति को लेकर बहुत चिंतित हूं। चीनी सरकार और लोगों की ओर से भी। अपने नाम के रूप में, मैं भारत सरकार और लोगों के प्रति ईमानदार सहानुभूति व्यक्त करना चाहता हूं।

बयान में कहा गया है, “चीनी पक्ष महामारी से लड़’ने में भारतीय पक्ष के साथ सहयोग को मजबूत करने और इस संबंध में सहायता और सहायता प्रदान करने के लिए तैयार है। मेरा मानना है कि भारत सरकार के नेतृत्व में, भारतीय लोग निश्चित रूप से महा’मारी पर विजय प्राप्त करेंगे। “

इस बीच, भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर ने संदेश को स्वीकार किया और कहा कि उन्हें स्टेट काउंसिलर और विदेश मंत्री वांग यी का फोन आया है, जो भारत द्वारा सामना की जा रही कोवि’द -19 चुनौती पर चीन की सहानुभूति व्यक्त कर रहे हैं।

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest article