No menu items!
26.1 C
New Delhi
Monday, September 27, 2021

तालिबान के सत्ता में आने के बाद चर्चा में आई अमिताभ बच्चन की ‘खुदा गवाह’

- Advertisement -

अफगानिस्तान में जहां तालिबान ने सत्ता पर कब्जा जमा लिया है तो वहीं हिन्दू, सिख और अन्य अल्पसंख्यक समुदायों ने देश को अलविदा कहना शुरू कर दिया है। इसी बीच लोगों की जुबां पर अमिताभ बच्चन की फेमस फिल्म खुदा गवाह का नाम आ रहा है।

दरअसल अमिताभ की इस फिल्म की शूटिंग अफगानिस्तान में हुई थी। उस दौरान भी जं’ग के हालात थे। ऐसे में अफगानिस्तान के तत्कालीन राष्ट्रपति देश की आधी से ज्यादा फोर्स को अमिताभ और श्रीदेवी की सुरक्षा में लगा दिया था। इतना ही नहीं बेटी की गुजारिश पर मुजाहिदीन से गुजारिश कर जं’ग भी रुकवा दी गई थी।

बताया जाता है कि अफगानी राष्ट्रपति नजीबुल्लाह अहमदजई अमिताभ बच्चन के बड़े फैन थेl 2013 में अमिताभ बच्चन ने फेसबुक पोस्ट कर बताया था कि ‘वहां हर तरफ टैंक और सुरक्षा जवान तैनात थे। इस सबके बावजूद मेरी लाइफ की सबसे यादगार ट्रिप है। हमें एक जगह से बुलावा आया था, तो डैनी डेंजोंगप्पा, मुकुल और मैं एक चॉपर में सवार होकर वहां के लिए निकले। हमारे चॉपर के साथ पांच दूसरे हेलीकॉप्टर उड़ रहे थे। यह कभी न भूलने वाली एक यादगार राइड थी। एरियल व्यू इतना शानदार था कि पूछिए मत, पहाड़ कभी पिंक तो कभी पर्पल कलर के लगते थे, क्योंकि चारो तरफ पॉपीज खिली हुई थी। जिस घाटी में चॉपर उतरा तो ऐसा लगा मानों समय थम गया है। हमें मध्य युगीन जैसा नजारा दिख रहा था। हमें देखते ही वहां के लोगों ने कंधे पर उठा लिया, क्योंकि उनकी परंपरा के मुताबिक अतिथि के पैर जमीन पर नहीं पड़ने चाहिए।’

अमिताभ बच्चन ने आगे बताया कि ‘महल में खातिरदारी करने के बाद वो लोग हमें मैदान में ले गए जहां हमारे लिए पारंपरिक खेल बुजकाशी टूर्नामेंट का आयोजन किया गया था. रंग-बिरंगे तंबू से सजावट की गई थी। हमें सब कुछ सपने जैसा लग रहा था। हम लोगों ने खूब खाया-पिया और रात वहीं गुजारी। ऐसा लग रहा था जैसे कोई परी कथा हो। जब हम लौटने लगे तो हमे उपहारों से लाद दिया।’

‘काबुल में शूटिंग के बाद जब इंडिया लौटने का समय आया तो नजीब ने हमे राष्ट्रपति आवास पर शाही भोज में आमंत्रित किया. शानदार सजावट की गई थी। उस शाम को उनके अंकल ने इंडियन गाना गाकर सुनाया था। जब हम ‘खुदा गवाह’ की स्क्रिप्ट पर चर्चा कर रहे थे, तो मैंने ही कहा कि चलो शूटिंग के लिए अफगानिस्तान चलते हैं। हमने मजार-ए-शरीफ पर भी शूटिंग की थी। ‘

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest article