भारत का आज रहा सुपर मंडे, पैरालंपिक में जीते 2 स्वर्ण और 3 रजत पदक

0
633

भारत के लिए आज यानि सोमवार का दिन बेहद ही लकी साबित हुआ है। दो स्वर्ण और तीन रजत पदक के साथ पैरालंपिक में भारत ने इतिहास रच दिया है।

इस दौरान भारत की अवनि लखेरा देश के लिए पैरालंपिक स्वर्ण पदक जीतने वाली इतिहास की पहली भारतीय महिला बनीं, भाला फेंकने वाले सुमित अंतिल ने स्वर्ण पदक जीता और उस समय ही अपना ही विश्व रिकॉर्ड भी तोड़ दिया।

विज्ञापन

सुमित ने पुरुषों की भाला F64 श्रेणी में 68.55 मीटर के थ्रो के साथ अपना ही विश्व रिकॉर्ड तोड़कर भारत को पैरालंपिक खेलों 2020 का दूसरा स्वर्ण पदक दिलाया। अवनि लेखारा ने स्वर्ण पदक जीता और महिलाओं की R2 10 मीटर एयर राइफल स्टैंडिंग SH1 में विश्व रिकॉर्ड की बराबरी की।

इसके अलावा रविवार के शानदार प्रदर्शन से सबक लेते हुए, भारत के दिग्गज भाला फेंक खिलाड़ी देवेंद्र ने टोक्यो में अपना तीसरा पैरालंपिक पदक जीता और 64.35 मीटर के व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ थ्रो के साथ F46 श्रेणी में प्रतिष्ठित रजत पदक जीता।

साथ ही राजस्थान के सुंदर सिंह गुर्जर ने 64.01 मीटर का अपना सर्वश्रेष्ठ थ्रो फेंककर तीसरा स्थान हासिल किया। यानि इसी स्पर्धा में कांस्य पदक जीता। देवेंद्र और सुंदर दोनों भारतीय खेल प्राधिकरण (SAI) के लक्ष्य ओलंपिक पोडियम योजना (TOPS) का हिस्सा रहे हैं।

वहीं योगेश कथुनिया ने भी भारत के लिए अपना तीसरा एथलेटिक्स पदक जीता। योगेश ने पुरुषों की डिस्कस थ्रो F56 श्रेणी में 44.38 मीटर के सीजन के सर्वश्रेष्ठ थ्रो के साथ भारत के लिए रजत पदक हासिल किया और पूरे आयोजन में दबदबा बना रहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here