Home कानून सम्बंधित कानून जानें: प्रॉपर्टी खरीदने से पहले रखें इन बातों का ध्यान

कानून जानें: प्रॉपर्टी खरीदने से पहले रखें इन बातों का ध्यान

128
SHARE

अपने घर का होना सभी के लिए एक सपने जैसा होता है और जब हम अपना आशियाना ख़रीदने के लिए सोच रहे होते हैं तो उत्साह तो होता ही है, कई सारे सवाल भी हमारे आस-पास होते हैं. कुछ सवाल तो ऐसे होते हैं कि जिस एरिया में हम मकान ले रहे हैं वो ठीक है, ठीक नहीं है.. इस तरह के जबकि कुछ ऐसे भी सवाल होते हैं जो इसकी काग़ज़ी कार्यवाही से जुड़े होते हैं. कोई भी ज़मीन, फ्लैट, मकान इत्यादि ख़रीदते वक़्त प्रॉपर्टी के काग़ज़ की सही जांच ज़रूरी है. भविष्य में कोई परेशानी ना आये, इसके लिए ज़रूरी है कि हम ठीक से रिसर्च कर लें.. भविष्य की किसी भी परेशानी से बचने के लिए हमें कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए.

टाइटल दस्तावेज (Title deed)

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

जब कभी भी प्रॉपर्टी ख़रीदने जाएँ तो ओरिजिनल डॉक्यूमेंट ज़रूर देखें और इसे किसी जानकार वकील से चेक करवाएं. इसके बारे में ठीक से समझ लें कि प्रॉपर्टी ठीक है और इस पर किसी तरह का कोई लोन तो नहीं है. इसके अतिरिक्त ये बात ज़रूर ध्यान से देखें कि इस दस्तावेज पर जो नाम पड़ा है वो विक्रय-करता का ही है, इस बात का विशेष ध्यान देना है कि ज़मीन का मालिक वही है जो ज़मीन बेचने के लिए आपसे बात कर रहा है.

खाता सर्टिफिकेट और खाता उद्धरण (Khata Certificate and Khata Extract)

खाता उसका अकाउंट होता है जिसकी प्रॉपर्टी होती है. इसमें खाता सर्टिफिकेट और खाता उद्धरण होता है. खाता सर्टिफिकेट तब अनिवार्य है जब आप नयी प्रॉपर्टी ख़रीद रहे होते हैं और प्रॉपर्टी का ट्रान्सफर हो रहा होता है. खाता उद्धरण देखा जाए तो प्रॉपर्टी डिटेल्स का प्राप्त करना है. ये तब ज़रूरी होता है जब प्रॉपर्टी ख़रीद रहे होते हैं या ट्रेड लाइसेंस हासिल कर रहे होते हैं.

जोखिम प्रमाणपत्र (Encumbrance certificate)

रजिस्ट्रेशन अथॉरिटी ऑफिस से प्रॉपर्टी के बारे में जानकारी हासिल कीजिये कि किसी प्रकार का लोन तो प्रॉपर्टी पर नहीं है या कोई क़ानूनी पेंच तो प्रॉपर्टी में नहीं फंसा है. इसलिए रजिस्ट्रेशन अथॉरिटी के ऑफिस से जोखिम प्रमाणपत्र हासिल कीजिये. इसमें प्रॉपर्टी को लेकर किसी भी प्रकार के लेन-देन का विवरण नहीं होना चाहिए.

सर्वे स्केच (Survey Sketch)

सर्वे डिपार्टमेंट से ज़मीन का सर्वे स्केच प्राप्त करें और प्रॉपर्टी को ठीक से मापें कि बेचने वाली पार्टी ठीक माप बता रही है या नहीं.

रिलीज़ सर्टिफिकेट (Release certificate)

इस बात का विशेष ध्यान रखें कि अगर ज़मीन पर किसी तरह का कोई लोन लिया गया था तो ध्यान से देखिये कि लोन पूरा चुकाया जा चुका है. इसके लिए बैंक में दिए गए पेमेंट की रसीद देखें और बैंक का रिलीज़ सर्टिफिकेट भी देखे. रिलीज़ सर्टिफिकेट को प्राप्त कर लें अगर आप ज़मीन को किसी बाद की तारीख़ में लेना चाहते हैं.

टैक्स रसीदें (Tax receipts)

इस बात की भी ठीक से जांच कर लें कि प्रॉपर्टी से जुड़े सभी तरह के करों (टैक्स) का भुगतान किया जा चुका है. बिक्रीकर्ता से प्रॉपर्टी की टैक्स रिसीप्ट के बारे में भी बात करें और देखें कि प्रॉपर्टी टैक्स ठीक से चुकाया गया है या नहीं.

बैनामा (Sale deed)

किसी वकील से सहायता लेकर बैनामे को ठीक तरह से जांच लें और इसमें देख लें कि जो शर्तें यहाँ बतायी जा रही हैं वो ठीक हैं.

पूर्ति प्रमाणपत्र, निर्मित संपत्ति के लिए.. [Completion Certificate(for a constructed property)]

म्युनिसिपल अथॉरिटीज़ के द्वारा जारी कम्पलीशन सर्टिफिकेट को जांचें और देखें कि प्रॉपर्टी को नियमानुसार ऊंचाई, सड़क से दूरी, इत्यादि के हिसाब से बनाया गया है और इसका निर्माण approved प्लान के हिसाब से ही हुआ है. ये डॉक्यूमेंट उस समय ज़रूरी है जबकि आप प्रॉपर्टी ख़रीदने जा रहा हैं या फिर घर पर लोन लेने जा रहे हैं.

मदर डीड

ये एक ऐसा डॉक्यूमेंट होता है जो बताता है कि प्रॉपर्टी के इसके पहले के ख़रीदार कौन थे, या यूँ कहें कि इसके मालिक शुरू में कौन थे. प्रॉपर्टी का मालिक किस समय कौन था, इसमें सब ब्योरा होता है. यदि इसमें किसी तरह की कोई जानकारी ग़ायब है या कोई लिंक टूटा हुआ है तो इसके बारे में रजिस्ट्रेशन ऑफिस से बात करें.

मुख्तारनामा (पॉवर ऑफ़ अटॉर्नी)

ये डॉक्यूमेंट तब ज़रूरी है जब बिक्री-कर्ता ने अपने अधिकार किसी अन्य व्यक्ति को दे दिए हैं. ऐसे में मुख्तारनामा का होना ज़रूरी है.

इन सभी बातों के अलावा आपको कुछ और डॉक्यूमेंट या पेपरवर्क की ज़रुरत पड़ सकती है जो कि अलग-अलग राज्यों के हिसाब से अलग-अलग होता है. (उदाहरण के लिए जैसे लोकल ऑथोरिटीज़ से कोई रिकॉर्ड)

प्रॉपर्टी खरीदते वक़्त किसी वकील से सलाह ज़रूर लें. वकील की मदद से डॉक्यूमेंट को चेक किया जा सकता है और उसमें कोई क़ानूनी रुकावट तो नहीं है ये समझा जा सकता है. अगर किसी प्रॉपर्टी के डॉक्यूमेंट ठीक हैं और आप संतुष्ट हैं तो फिर प्रॉपर्टी ख़रीदना मुश्किल काम नहीं रहता है.

(Lawzgrid – इस लिंक पर जाकर आप ऑनलाइन अधिवक्ता मुहैया कराने वाले एप्लीकेशन मोबाइल में इनस्टॉल कर सकते हैं, कोहराम न्यूज़ के पाठकों के लिए यह सुविधा है की बेहद कम दामों पर आप वकील हायर कर सकते हैं, ना आपको कचहरी जाने की ज़रूरत है ना किसी एजेंट से संपर्क करने की, घर घर बैठे ही अधिवक्ता मुहैया हो जायेगा.)

Loading...