Home विचार

विचार

रवीश कुमार: कोरोना की तरह आर्थिक चिन्ताएँ भी आँकड़ों की बाज़ीगरी में खो गई

एक तरह से बहुत अच्छा है कि नौकरी, सैलरी, दुकानदारी चली जाने के बाद लोग संयमित हैं। ख़ुश हैं। आध्यात्मिक हैं। सब्र से है। मार्ग तो यही है। नौकरी में होते हुए भी या नौकरी को खोते हुए भी।...

शान-ए-रसूल (सल्ल) में गुस्ताखी पर जब सुल्तान अब्दुल हमीद के गुस्से से कांप उठा...

खलीफा ने हुकूमती ओहदेदार से फ्रांस के अखबार का पेज लेकर ऊंची आवाज में पढ़ना शुरु कर दिया। निहायत जलाल और गुस्से की हालत में सुल्तान का जिस्म कांप रहा था। जबकि आपका चेहरा लाल हो चुका था। आप...

बेरूत ब्ला’स्ट: तीन नवजात को सीने से लगाकर नर्स ने बचाया, तस्वीर हुई वायरल

जैद पठान ये तस्वीर लेबनान की राजधानी बेरूत के एक हॉस्पिटल कि है एक नर्स अपनी गोद में तीन बच्चों को लेकर खड़ी है ये तस्वीर लेबनानी फोटोजर्नलिस्ट बिलाल ने ली जब वो धमाकों के बाद धुएं से भरी और...

रवीश कुमार: ‘कोरोना का कवरेज बंद कर देने से कोरोना ख़त्म नहीं होगा’

चैनल न्यूज़ एशिया देख रहा था। अनसोहातो देखने लगा। काफ़ी देर तक दक्षिण पूर्व एशिया के देशों में कोरोना को लेकर ख़बरें आती रहीं जाती रहीं। भारत में तो कोई सोच भी नहीं सकता। कोरोना का मसला ही ख़त्म...

प्रिय नौजवानों परीक्षा दे दीजिए, फीस बढ़ गई तो दे दीजिए, जैसा आपने बोया...

रोज़ाना मैसेज आते हैं कि सर, हमारी परीक्षा रद्द करवा दें। कोरोना का ख़तरा है। वे जानते हैं कि मैं शिक्षा मंत्री नहीं हूं। न ही यू जी सी हूं। फिर भी लिखते हैं। छात्र सुप्रीम कोर्ट भी गए...

रवीश कुमार: ‘बोली लगेगी 23 सरकारी कंपनियों की, निजीकरण का ज़बरदस्त स्वागत’

0
निजीकरण का स्कूली नाम विनिवेश है। विनिवेश बेचने जैसा ग़ैर ज़िम्मेदार शब्द नहीं है। ख़ुद को काम करने वाली सरकार कहती है कि वह 23 सरकारी कंपनियों को बेचना चाहती है ताकि उनका उत्पादन बढ़ सके। वित्त मंत्री निर्मला...

रवीश कुमार: ‘सेना में इंजीनियरिंग के 9000 से अधिक पद समाप्त, युवाओं में उत्साह’

0
पुराना ख़बर है। बीते मई की। यह ख़बर हमें सरकारी नौकरियों को लेकर युवाओं के दृष्टिकोण में आ रहे बदलाव को समझने का मौक़ा देती है। यह नज़रिया बदलने का वक्त है। सरकार ही बदलने की तरफ़ धकेल रही...

अबू अशरफ – ‘नया भारत और सुफियाए इस्लाम’

सूफी शब्द ‘सुफ’ से बनता है और अरबी भाषा में इसका मतलब सुफ्फा है यानी “ दिल की सफाई” ।कुछ लोग इसे फारसी शब्द ‘सूफ’ यानि कम्बल जैसा मोटा कपडा और ‘सफ़’ से जोड़कर बताते हैं यानी क़यामत के...

रवीश कुमार: ‘रेलवे ने भर्तियां बंद की, उदास न हो नौजवान, पोजिटिव रहें व्हाट्स...

रेलवे ने पिछली भर्ती के लोगों को ही पूरी तरह ज्वाइन नहीं कराया है। अब नई भर्तियों पर रोक लगा दी गई है। यही नहीं आउट सोर्सिंग के कारण नौकरियाँ ख़त्म की गई, अब उस आउटसोर्सिंग के स्टाफ़ भी...

‘इस्लाम एक झलक में’ – अबू अशरफ

मनुष्य एक सामाजिक प्राणी हैं। घर-परिवार के साथ-साथ उस पर मुआशरे की जिम्मेदारियों का भी दायित्व होता है। समाज के सभी धर्म इसकी वकालत करते हैं। इसी संदर्भ में कुरान में भी मानवीय और सामजिक गुणों को तरजीह देकर...

Latest News