Home राष्ट्रिय ईवीएम पर ममता का कड़ा रुख कहा, चुनाव आयोग को बुलानी चाहिए...

ईवीएम पर ममता का कड़ा रुख कहा, चुनाव आयोग को बुलानी चाहिए सर्वदलीय बैठक

43
SHARE

कोलकाता | उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में बीजेपी की बम्पर जीत के बाद मतदान के लिए इस्तेमाल की जाने वाली ईवीएम मशीन पर लगातार सवाल खड़े किये जा रहे है. विपक्षी दलों का कहना है की ईवीएम् में छेड़छाड़ कर बीजेपी ने चुनाव जीता है. इसलिए चुनाव आयोग की इसकी जांच करनी चाहिए. मायावती से लेकर अरविन्द केजरीवाल तक ने ईवीएम् मशीन की जाँच करने की मांग की है.

उधर चुनाव आयोग का स्पष्ट कहना है की ईवीएम् मशीन में छेड़छाड़ संभव नही है. इसलिए किसी भी जांच का कोई सवाल ही नही उठता. विपक्ष के सवालों का जवाब देते हुए चुनाव आयोग ने ईवीएम् के सम्बन्ध में एक पत्र भी जारी किया है जिसमे सिलसिलेवार से बताया गया है की आखिर क्यों ईवीएम् के साथ छेड़छाड़ संभव नही है. हालाँकि विपक्ष अभी भी चुनाव आयोग के रुख से सहमत नही है.

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने चुनाव आयोग से एक सर्वदलीय बैठक बुलाने की मांग करते हुए कहा की उनका फैसला कोई स्वीकार करे या न करे , यह पूरी तरह से उनकी पसंद है. लेकिन चुनाव आयोग एक सर्वदलीय बैठक बुला सकता है. ईवीएम् मशीन से छेड़छाड़ होने की जांच पर उन्होंने कहा की मैं जानती हूँ की चुनाव आयोग कह चूका है की यह संभव नही है लेकिन मैंने बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी का भी विडियो देखा है.

इस विडियो को मीडिया के सामने रखते हुए ममता ने कहा की वो क़ानूनी रूप से बहुत मजबूत है इसलिए उन्होंने जो कहा वो गलत नही है. इसलिए मुझे लगता है की इसकी जांच करने में कोई बुराई नही है. मालूम हो की स्वामी ने 2012 में कहा था की ईवीएम् मशीन की माइक्रो चिप जापान से बनकर आती है और खुद जापान ईवीएम् का इस्तेमाल नही करता. स्वामी ने इससे संबंधति एक याचिका सुप्रीम कोर्ट में भी दायर की थी.