Home खेलकूद कप्तानी छोड़ने के बाद पहली बार बोले धोनी कहा, भारत में अलग...

कप्तानी छोड़ने के बाद पहली बार बोले धोनी कहा, भारत में अलग अलग कप्तानी काम नही करती

48
SHARE

dhoni-press

पुणे | भारतीय क्रिकेट टीम के सबसे सफल कप्तान रहे महेंद्र सिंह धोनी आज मीडिया से रूबरू हुए. कप्तानी छोड़ने के बाद उनकी यह पहली प्रेस कांफ्रेंस थी. इस प्रेस वार्ता में धोनी ने लगभग हर उस सवाल का जवाब दिया जो देश के हर क्रिकेट प्रेमी के जेहन में उठ रहा था. उन्होंने बताया की टीम में वो किस नम्बर पर खेलना पसंद करेंगे, कप्तानी छोड़ने के क्या कारण थे, जिन्दगी से कोई पछतावा और क्या आगे बाल बड़े करने का कई इरादा है?

कप्तानी छोड़ने के सवाल पर उन्होंने कहा की मैं इस बारे में बहुत पहले से सोच रहा था. मेरे लिए साउथ अफ्रीका के खिलाफ मेरी आखिरी घरेलू सीरीज थी. यही वजह थी की मैं जिम्बाब्वे भी गया. टेस्ट क्रिकेट से सन्यास लेने के बाद मैंने इस बारे में खूब सोचा क्योकि भारत में तीनो फॉर्मेट में अलग अलग कप्तानी काम नही करती. क्योकि लोग तुलना करते है, यह अच्छा कप्तान यह बुरा कप्तान. इसलिए मैं सही वक्त का इन्तजार कर रहा था.

धोनी ने आगे कहा की सीमित ओवर के मैच की कप्तानी ज्यादा आसान है. विराट टेस्ट में अच्छी कप्तानी कर रहा है, अब वो इसमें ढल चूका है इसलिए कप्तानी छोड़ने का यही सही समय था. टीम में अपने रोल के बारे में धोनी ने कहा की मेरे लिए जीत मायने रखती है. टीम की जरुरत के हिसाब से मुझे जिस भी नम्बर पर बल्लेबाजी के लिए भेजा जाएगा, मैं वहां खेलने के लिए तैयार हूँ.

धोनी ने विकेट कीपर के रोल के बारे में कहा की विकेटकीपर हर टीम का वाईस कप्तान होता है. उसको पता होता है की बल्लेबाज कैसे मूव कर रहा है, बॉल कैसे घूम रही है इसलिए वो कप्तान की फील्ड प्लेसिंग में हमेशा मदद करता है. इसलिए यह काम मैं अब भी जारी रखूँगा. हाँ विराट को मेरी सलाह मनानी है या नही , यह उसके ऊपर है. मैं मानता हूँ की जरुरी नही की विराट मेरी हर सलाह माने.

 

 

जिन्दगी में किसी पछतावे और आगे बाल बड़ा करने के सवाल पर धोनी ने कहा की मैं कभी पछताता नही क्योकि जिन्दगी में उतार चढाव लगे रहते है. आज दुःख है तो कल ख़ुशी भी होगी. रही बात बाल बड़े करने की तो अब बाल बड़े नही हो सकते.