Home धर्म राधा स्वामी सत्संग ब्यास के आश्रम में मिले नर कंकाल, लोगो में...

राधा स्वामी सत्संग ब्यास के आश्रम में मिले नर कंकाल, लोगो में मचा हडकंप

191
SHARE
23_big
भारत में राधा स्वामी सत्संग ब्यास के आश्रम जगह जगह फैले हुए है. लगभग हर प्रदेश के बड़े से बड़े और छोटे से छोटे शहर में राधा स्वामी के आश्रम आपको मिलेंगे. इन आश्रमों में लगभग हर रविवार को अनुयायी आते है और सेवा करते है. पुरे देश भर में राधा स्वामी के करोड़ो अनुयायी है. लेकिन शनिवार को राधा स्वामी के एक आश्रम में नर कंकाल मिलने से हडकंप मच गया.
गर्मी की वजह से कुँए का पानी सूख गया था, फिर शुरू करने के लिए शुरू की खुदाई 
उत्तर प्रदेश के ललितपुर जिले के कड़ेसरांकला गाँव में भी राधा स्वामी का एक आश्रम बना हुआ है. रविवार को इस आश्रम में अनुयायी आने वाले थे. अनुयायियों के लिए पानी की उचित व्यवस्था करने के लिए बरसो से बंद पड़े कुँए को चालु करने का फैसला किया गया. गर्मी की वजह से ये कुवां पहले ही सूख गया था. इसको चालू करने के लिए कुँए की खुदाई करके गहरा करने का फैसला हुआ.
मशीन की खुदाई में निकले 10 से ज्यादा नर कंकाल, गाँव वालो ने बताया 60 साल पुराने नर कंकाल  
शनिवार को मशीन से खुदाई करते वक्त कुँए से नर कंकाल निकलने शुरू हो गए. नर कंकाल के निकलने से लोगो में हडकंप मच गया. मौके पर पुलिस ने पहुंचकर नर कंकालो को अपने कब्जे में ले लिया है. अनुमान लगाया जा रहा है की नर कंकाल 60 से 70 साल पुराने हो सकते है. आश्रम वाली जगह पर पहले जंगल हुआ करता था. इस बात का अनुमान लगाया जा रहा है की कर्बीद 60 साल पहले गाँव में महामारी फैलने से लोगो की मौत हुई होगी और गाँव वालो ने लाशो को जलाने की बजाये कुँए में फेंक दिया होगा.
प्रशासन ने कहा जांच के बाद पता चलेगा की शव कितने पुराने है 
जिले के उप जिलाधिकारी रत्नाकर मिश्र से नर कंकाल के बारे में पूछने पर उन्होंने बताया की नर कंकाल को पुलिस ने अपने कब्जे में लेकर जांच ले लिए भेज दिया गया है. उन्होंने कहा की जांच के बाद ही बता पाएंगे की नर कंकाल कितने पुराने है. गौरतलब है की कार्बोन डेटिंग तकनीक से बतया जा सकता है की कंकाल कितना पुराना है.