Home राजनीति मैं अभिमन्यु हूँ , जिसके वध में भी जीत है, ट्वीटर पर...

मैं अभिमन्यु हूँ , जिसके वध में भी जीत है, ट्वीटर पर जो 20 है वो देश नही है – कुमार विश्वास

64
SHARE

नई दिल्ली | आम आदमी पार्टी के दिग्गज नेता और मशहूर कवि कुमार विश्वास ने राजस्थान प्रभारी का पद संभाल लिया है. उन्होंने वहां होने वाले विधानसभा चुनावो के लिए तैयारिया भी शुरू कर दी है. इसके लिए उन्होंने रविवार को प्रदेश के कार्यकर्ताओ से बात भी की. इस दौरान उन्होंने आगामी चुनावो के लिए अपनी तैयारियों का भी लेखा जोखा दिया. उन्होंने कहा की पार्टी यह चुनाव स्थानीय नेताओं के बल पर लड़ेंगे.  इस दौरान पोस्टर पर केजरीवाल के अलावा केवल स्थानीय नेताओं के चेहरे होंगे.

बाद में एनडीटीवी से बात करते हुए कुमार ने कई पहलुओ पर बात की. उन्होंने बताया की वो पार्टी के अन्दर अलग थलग नही पड़े है. पार्टी के सभी सीनियर नेता उनको सपोर्ट कर रहे है. इसके अलावा मैंने जो रणनीति राजस्थान चुनावो के लिए अपनाई है उस पर भी किसी बड़े नेता ने कोई सवाल नही उठाये है. जब कुमार से केजरीवाल के साथ उनके संबंधो के बारे में पुछा गया तो उन्होंने कहा की हम दोनों ही पार्टी के सिपाही है, जैसा वो (केजरीवाल ) कहते है की हम यहाँ किसी रिश्तेदार के लिए नही है.

कुमार ने पार्टी के कुछ नेताओ के खिलाफ हमला बोलते हुए आरोप लगाया की वो उनके खिलाफ सोशल मीडिया और मीडिया में खबरे प्लाट कराते है. उन्होंने कहा की मैं जमीन से जुड़ा हुआ नेता हूँ, मैं कार्यकर्ताओ से जुड़ा हुआ हूँ क्योकि यही देश हैं. जो ट्वीटर पर 20 है वो देश नही है.  आगे और आक्रामक होते हुए कुमार ने कहा की वो अभिमन्यु है और ऐसे में अगर उनका वध भी होता है तो भी इसमें मेरी जीत है. हालाँकि मैं जानता हूँ की वो मेरे यश का वध नही कर सकते.

कुमार ने खुद के अलग थलग होने पर कहा की वो उस दीपक की तरह है जो जहाँ भी रहता है अकेला ही उस जगह को प्रकाशमय करता है. उधर कुमार के इंटरव्यू के बाद आप के ही वरिष्ठ नेता दिलीप पाण्डेय ने ट्वीट कर उनसे पुछा की भैया आप कांग्रेस को खूब गाली देते है लेकिन वसुंधरा राजे के खिलाफ कुछ नही बोलते , ऐसा क्यों? हालाँकि बाद में उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा की वो कुमार भाई का बेहद सम्मान करते है. यह केवल एक सामान्य सवाल उनसे पुछा है जो कुछ कार्यकर्ताओ के मन में आ रहा था.