राजनीति

बिहार में टोपर फैक्ट्री चलाने वाले जवाहर सिंह है बीजेपी नेता, दो बार पार्टी के टिकेट पर लड़ चुके विधानसभा चुनाव

पटना | पिछले साल बिहार बोर्ड में टोपर घोटाला सामने आने के बाद उन लोगो की खोज शुरू हुई जो इस खेल के पीछे थे. जांच के बाद जिन दो लोगो के नाम सामने आये वो सत्ताधारी राजद और जदयू से ताल्लुक रखते थे. इनमे से एक बच्चा सिंह , राजद समर्थक बताया गया वही इस पुरे खेल का असली बॉस लोकेश्वर सिंह , जदयू से ताल्लुक रखता था. लोकेश्वर सिंह की पत्नी उषा सिंह नितीश कुमार की पार्टी से 2010 से 2015 के बीच विधायक रह चुकी है.

उस समय बीजेपी ने पुरे मामले पर हंगामा करते हुए बच्चा सिंह और उषा को पार्टी से निकालने की मांग की. हालाँकि राजद ने कभी नही माना की बच्चा सिंह उनकी पार्टी से ताल्लुक रखता है जबकि नितीश कुमार ने उषा सिंह को छह साल के लिए पार्टी से निलंबित कर दिया. अब इस साल भी बिहार बोर्ड में टोपर घोटाला हुआ है. 12वी में कला संकाय में टॉप करने वाले गणेश कुमार की गिरफ़्तारी के बाद जिस शख्स का नाम सामने आ रहा है वो बीजेपी नेता बताया जा रहा है.

दरअसल गणेश ने समस्तीपुर जिले के ताजपुर स्थित रामनंदन सिंह जगदीश नारायण इंटर विद्यालय से 12वी की परीक्षा पास की है. इस विधालय के सचिव बीजेपी नेता जवाहर प्रसाद सिंह है. गणेश कुमार की गिरफ़्तारी के बाद से ही जवाहर सिंह , उसका बेटा और विधालय के प्रिंसिपल फरार चल रहे है. दरअसल जवाहर सिंह बीजेपी नेता है और दो बार पार्टी के सिंबल पर विधानसभा चुनाव् भी लड़ चुके है.

जवाहर ने बीजेपी के टिकेट पर 1985 और 1990 में विधानसभा चुनाव लड़ा. इसके अलावा उसने 1974 में जेपी आन्दोलन में भी भाग लिया. जवाहर के बारे में बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय को भी जानकारी है. फ़िलहाल नित्यानंद , बिहार से बाहर चल रहे है इसलिए मामले पर उनकी प्रतिक्रिया नही मिल पायी है. उधर कोई भी बीजेपी नेता जवाहर सिंह के ऊपर प्रतिक्रिया देने से बच रहा है. वही एक बीजेपी कार्यकर्ता का कहना है की अगर गणेश टोपर नही होता तो जवाहर की पास कराने वाली फैक्ट्री का भी पोल नही खुलता.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top
error: Content is protected !!