Home राष्ट्रिय धोखाधड़ी के मामले में गिरफ्तार साध्वी हुई फरार ,पेरोल की सुनवाई के...

धोखाधड़ी के मामले में गिरफ्तार साध्वी हुई फरार ,पेरोल की सुनवाई के दौरान मल्टीप्लेक्स में देख रही थी बाहुबली 2

57
SHARE

अहमदाबाद | गुजरात में धोखाधड़ी के मामले में गिरफ्तार की गयी एक साध्वी के फरार होने की खबर है. मिली जानकारी के अनुसार साध्वी को 10 दिन के लिए पैरोल पर रिहा किया गया था. पैरोल पर रिहा करने के पीछे साध्वी की तबियत का हवाल दिया गया था. लेकिन चौकाने वाली बात यह है की बुधवार को साध्वी एक मॉल में देखि गयी जहाँ वो मसाज करवाने के लिए पहुंची थी. इसके बाद उसने बाहुबली 2 फिल्म देखी और वहां से फरार हो गयी.

दरअसल गुजरात की बहुचर्चित साध्वी जयश्री गिरी को कुछ महीने पहले पुलिस ने गिरफ्तार किया था. उन पर भक्तो के साथ धोखाधड़ी करने का आरोप था. पुलिस को इस मामले में करीब 8 शिकायते साध्वी के खिलाफ मिली थी. इसके बाद पुलिस ने उसके आश्रम पर रेड मारकर साध्वी को गिरफ्तार कर लिया. उस समय पुलिस को आश्रम से भारी मात्रा में कैश और शराब भी मिली थी.

पुलिस ने साध्वी को गिरफ्तार कर अहमदाबाद की साबरमती जेल भेज दिया था.  इसके बाद से साध्वी जयश्री चर्चा में रही है. इस दौरान उसने कई बार जमानत और पैरोल पर रिहा होने के लिए कोर्ट से गुहार लगाई. लेकिन हर बार उसकी अर्जी ठुकरा दी गयी. इस बार उसको 10 दिन की पैरोल पर रिहा किया गया था. इसके लिए उसने तबियत ख़राब होने का बहाना बनाया.

 पैरोल की अवधि के दौरान साध्वी के साथ हमेशा 2 कांस्टेबल रहते थे. इसके अलावा दो और पुलिस वाले उसकी सुरक्षा में लगे थे. बुधवार को उसकी पैरोल की अवधि ख़त्म हो रही थी इसलिए साध्वी ने गुजरात हाई कोर्ट में अपनी पैरोल आगे बढवाने की अर्जी दी हुई थी. एक तरह साध्वी की पैरोल पर सुनवाई चल रही थी तो दूसरी और साध्वी मॉल में मसाज कराने के लिए गयी हुई थी. इसके अलावा उसने बाहुबली 2 फिल्म भी देखी.

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार इस दौरान साध्वी लगातार अपने वकीलों के साथ संपर्क में थी. जैसे ही वकीलों ने उसे बताया की उसकी पैरोल की अर्जी ख़ारिज हो गयी है वो पुलिसकर्मियों को चकमा देकर फरार हो गयी. फिलहाल पुलिस ने त्वरित कार्यवाही करते हुए साध्वी की सुरक्षा में तैनात चार पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया है. जबकि उन दो वकीलों को भी हिरासत में लिया गया है जिनके घर साध्वी रुकी हुई थी. इसके अलावा पुलिस ने साध्वी को ढूँढने के लिए गस्त बढ़ा दी है.