राष्ट्रिय

‘एयरलिफ्ट’ में काम कर चुके इनामुल हक़ को सोसाइटी वाले कर रहे प्रताड़ित, पुलिस में दर्ज किया केस

मुंबई | अक्षर कुमार की फिल्म ‘एयरलिफ्ट’ में काम कर चुके अभिनेता इनामुल हक़ ने मुंबई के वर्सोवा इलाके के पुलिस थाने में एक सोसाइटी के खिलाफ शिकायत दर्ज करायी है. इनामुल हक़ ने आरोप लगाया है की वर्सोवा की एक सोसाइटी ने उनको मानसिक रूप से प्रताड़ित किया है. अपनी बात रखने के लिए इनामुल्ला ने अपने फेसबुक पेज पर एक पोस्ट भी लिखी है.

इनामुल् ने अपनी शिकायत में बताया की उसे वर्सोवा के कल्याण काम्प्लेक्स स्थित दीप्ती शक्ति मुक्ति सोसाइटी में किराये के नए घर में शिफ्ट करना था लेकिन वहां के मैनेजमेंट ने मुझे समिति के सदस्यों से नही मिलने दिया. उन्होंने पहले मुझ पर बैचलर होने का आरोप लगाया फिर जब मैंने उन्हें बताया की मैं शादीशुदा हूँ और मेरे बच्चे भी है. तो उन्होंने सबूत के तौर पर उनको साथ लाने के लिए कहा.

इनामुल ने आगे बताया की मेरी बीवी और बच्चे छुट्टी में मुंबई से बाहर गए हुए थे. जब वो वापिस लौटे तो मैं उनको लेकर सोसाइटी वालो के पास गया लेकिन उन्होंने मकान देने से ही मना कर दिया. इस तरह वो एक महीने तक मुझे टालते रहे. इस बारे में इनामुल्ला ने फेसबुक पर एक पोस्ट भी लिखी. इस पोस्ट को उन्होंने ‘my name is Inaamulhaq and I not a bachelor..’ शीर्षक दिया.

इस पोस्ट में उन्होंने लिखा ,’आप क्या करेंगे? अगर आपको कहा जाये कि आपको किराए पर मकान इसलिए नहीं दिया जा सकता क्योंकि आप ‘फलां धर्म’ से ताल्लुक रखते है. आप शायद आगे बढ़ जायेंगे क्योंकि आप इस सच को नहीं बदल सकते कि आप वाकई ‘फलां धर्म’ से ताल्लुक रखते हैं. आप क्या करेंगे? अगर आपको कहा जाये कि आपको किराए पर मकान इसलिए नहीं दिया जा सकता, क्योंकि आप ‘बैचलर’ हैं.’

इनामुल ने आगे लिखा, ‘आप शायद आगे बढ़ जायेंगे क्योंकि आप इस सच को नहीं बदल सकते कि आप वाकई ‘बैचलर’ हैं. लेकिन तब आप क्या करेंगे? जब आप वाकई ‘बैचलर’ नहीं है. फिर भी आपको मकान इसलिए नहीं दिया जा रहा कि आप ‘बैचलर’ हैं? क्योंकि आपके ‘बैचलर’ न होने का सबूत-आपकी ‘फ़ैमिली’, साल की इकलौती छुट्टी मनाने के लिए महानगर की आपाधापी से दूर अपने उस घर में गयी है जिसकी दीवारें, छतें, चबूतरे और आँगन उनके ख़ुद के हैं.’

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top
error: Content is protected !!