Home अन्तर्राष्ट्रीय हिंसा के लिए रोहिंग्या चरमपंथियों को जिम्मेदार ठहराने पर छिना मिस म्यांमार...

हिंसा के लिए रोहिंग्या चरमपंथियों को जिम्मेदार ठहराने पर छिना मिस म्यांमार का ताज

2
SHARE

नई दिल्ली | म्यांमार में रोहिंग्या मुस्लिमो के नरसंहार के बीच मिस म्यांमार ने एक विवादित विडियो पोस्ट कर पूरी हिंसा के लिए रोहिंग्या चरमपंथियों को जिम्मेदार ठहराया है. हालाँकि उनको विडियो पोस्ट करने का हर्जाना भी भुगतान पड़ा. आयोजको ने उनके इस व्यव्हार को अनुबंधों के खिलाफ बताते हुए उनसे मिस म्यांमार का ताज छीन लिया. इससे पहले मिस तुर्की को भी विवादित टिप्पणी करने की वजह से अपना ताज गंवाना पड़ा था.

मिली जानकारी के अनुसार मिस म्यांमार श्वे यान शी ने पिछले हफ्ते अपने फेसबुक पेज पर एक विडियो पोस्ट की थी. इस विडियो में म्यांमार में हो रही हिंसा के लिए रोहिंग्या चरमपंथियों को जिम्मेदार ठहराया गया था. विडियो में उन्होंने यह भी आरोप लगाया की रोहिंग्या चरमपंथी मीडिया अभियान चलाकर विश्व को चकमा दे रहे है जिससे की लोग उन्हें ही पीड़ित समझे. इस दौरान विडियो में खून से सने चेहरे भी दिखाई दिए.

इसके अलावा बच्चों की नग्न तस्वीरें और एआरएसए अराकान रोहिंग्या साल्वेशन आर्मी द्वारा पोस्ट किए वीडियो की कुछ ग्राफिक छवियां भी डाली गई. फ़िलहाल खबर यह है की शी से मिस म्यांमार का ताज छीन लिया गया है. ब्यूटी क्वीन के अनुसार आयोजको ने इस विडियो को अनुबंध के खिलाफ बताते हुए यह कार्यवाही की. आयोजको का कहना है की शी ने एक आदर्श मॉडल की तरह व्यवहार नही किया.

हालाँकि आयोजको की और से विडियो का जिक्र नही किया गया. लेकिन शी ने आरोप लगाया की इसी विडियो की वजह से उनसे उनका ताज छिना गया. बताते चले की म्यांमार में 25 अगस्त से सुरक्षाबलो और रोहिंग्या कट्टरपंथियों के बीच हिंसा चल रही है. इस दौरान म्यांमार के सुरक्षाबलो पर रखाइन प्रान्त में जातीय सफाया अभियान चलाने के आरोप लग रहे है लेकिन सुरक्षाबल इसे न्यायसंगत कार्यवाही बता रहे है. हिंसा की वजह से म्यांमार से अभी तक 4 लाख मुस्लिम दुसरे देश में पलायन कर गए है.