Home ताज़ा खबर बाबरी मस्जिद विध्वसं मामले में आडवाणी, उमा और जोशी को मिली जमानत,...

बाबरी मस्जिद विध्वसं मामले में आडवाणी, उमा और जोशी को मिली जमानत, आरोप ख़त्म करने की मांग ख़ारिज

45
SHARE

लखनऊ | बाबरी विध्वंस मामले में बीजेपी के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी और केन्द्रीय मंत्री उमा भारती को जमानत मिल गई है. सीबीआई की विशेष अदालत ने तीनो आरोपियों को 50 हजार रूपए के निजी मुचलके पर जमानत दे दी. अभी अदालत ने चार्जशीट पर फैसला नही सुनाया है. उम्मीद है की थोड़ी देर में अदालत इस पर भी फैसला सुना देगी.

मंगलवार को सीबीआई की विशेष अदालत में हाजिर होने के लिए बीजेपी के तीनो बड़े नेता लखनऊ पहुंचे. इसके बाद उनसे मिलने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या वीवीआईपी गेस्ट हाउस पहुंचे. पहले 11 बजे मामले की सुनवाई होनी थी लेकिन इसमें थोड़ी देर हो गयी. सुनवाई के दौरान कोर्ट परिसर में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किये गए थे. इसके अलावा कोर्ट रूम में भी केवल सम्बंधित पक्षों को जाने की इजाजत थी.

मीडिया को कोर्ट के बाहर ही रोक दिया गया था. सुनवाई शुरू होने के कुछ देर बाद ही अदालत ने आडवाणी, उमा और मुरली मनोहर जोशी समेत सभी आरोपियों को जमानत दे दी. इस दौरान आरोपियों ने उनके खिलाफ लगे सभी आरोपों को ख़ारिज करने के भी मांग की. इसके लिए अदालत में डिस्चार्ज एप्लीकेशन दी गयी जिस पर अदालत ने अपना फैसला सुरक्षित रख लिया. थोड़ी देर में अदालत इस पर भी फैसला सुनाएगी.

अगर अदालत आरोपियों की मांग को ख़ारिज कर देती है तो सभी के खिलाफ आरोप तय किये जायेंगे और साजिश से जुडी धारा भी जोड़ी जाएगी. उधर अदालत की कार्यवाही पर केन्द्रीय मंत्री वैंकया नायडू ने कोई भी प्रतिक्रिया देने से इंकार कर दिया. उन्होंने कहा की यह मामला अभी अदालत में विचारधीन है इसलिए इस पर मैं अभी कोई प्रतिक्रिया नही दूंगा. हालाँकि वैंकया ने अपने सभी नेताओ को निर्दोष बताते हुए उम्मीद जताई की जल्द ही वो इससे बाहर निकल आयेंगे. इससे पहले उमा ने पेश होने से पहले कहा था की यह कोई साजिश नही थी बल्कि एक आन्दोलन था.