Home ताज़ा खबर पनामा पेपर्स लीक में सामने आया बीजेपी नेता का नाम, ईडी ने...

पनामा पेपर्स लीक में सामने आया बीजेपी नेता का नाम, ईडी ने की पूछताछ

4
SHARE

नई दिल्ली | पनामा पेपर्स लीक का जिन्न के बार फिर बोतल से बाहर आ चूका है. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को वहां के सुप्रीम कोर्ट ने पनामा पेपर्स लीक में नाम आने के बाद उन्हें पद से बेदखल कर दिया. इसके बाद से भारत में भी आरोपियों पर कार्यवाही करने की मांग उठने लगी है. इसी कड़ी में बुधवार को बीजेपी के एक नेता से प्रवर्तन निदेशालय ने करीब आध घंटे तक पूछताछ की.

बुधवार को प्रवर्तन निदेशालय ने बीजेपी नेता शिशिर बाजोरिया से पनामा पेपर्स लीक में नाम आने बाद के बाद पूछताछ की. पनामा पेपर्स के अनुसार शिशिर पर एक विदेशी कंपनी हैप्टिक (ब्रिटिश वर्जिन आइसलैंड) लिमिटेड का मालिक होने का आरोप है. हालाँकि शिशिर ने ऐसी किसी भी कंपनी का मालिक होने से इनकार किया है. उनका कहना है की गलती से उनका नाम पनामा पेपर लीक में आ गया.

ईडी द्वारा पूछताछ करने के बाद बाहर निकले शिशिर ने मीडिया से बात करते हुए कहा की उन्होंने वो सभी जानकारी ईडी को दे दी है जिनकी उन्होंने मांग की थी. हमने उनके सभी सवालों के जवाब दिए. शिशिर ने कहा की जांच पड़ताल के बाद सच जल्द ही सामने आ जायेगा. पनामा में मेरा नाम गलती से आया है. मैं इस बारे में ईडी को भी बता चूका हूँ. यह पूछताछ भी उसी जांच का हिस्सा थी.

शिशिर ने तंज भरे लहजे में यह भी कहा की वो बीजेपी नेता है इसका मतलब यह नही है की ईडी मुझसे पूछताछ नही करेगी. विदेशी कंपनी का मालिक होने के आरोप पर उन्होंने कहा की मैं कभी भी इस कंपनी का मालिक नही रहा. दरअसल पनामा पेपर्स में बताया गया है की 16 अक्टूबर 2015 को मोसाक फोनसेका एवं व्यापारिक (एमएफ) की मदद से हैप्टिक लिमिटेड को स्थापित किया गया था. इसके लिए शिशिर का पासपोर्ट इस्तेमाल किया गया था. इस पर शिशिर का कहना है की गलती से मेरा पासपोर्ट एमएफ के पास गया था.